Wednesday, March 5, 2008

ठाकरे बाबा सही कह रहे हैं !

लालू कहते हैं की बुढापा का लक्षण है ! नीतिश जी नालंदा स्टाइल मे मे मी आ रहे हैं ! पासवान को बुझा ही नही रहा है की क्या कहें ? भाई , आप तीनो ने "मंडल" के सहारे जो वातावरण तैयार किया है बिहार मे उसका कोई जबाब नही है ! एक बात बताएं ? - आप तीनो १८ साल से बिहार मे कर क्या रहे हैं ? लालू - समान्त्वादों के ख़िलाफ़ मोर्चा खोला - नीतिश जी लालू के ख़िलाफ़ और पासवान जी दोनों के ख़िलाफ़ , बढ़िया है ! लगे रहिये ! लालू बिहार के लिए कुछ नही किए - आशा भी नही था ! पर , नीतिश बाबु - आप त जात पात से ऊपर उठ कर चुन कर आए थे - फ़िर ये अचानक जाती प्रेम कैसे जाग गया ? खैर , यह आपका दोष नही है - यह तो बिहार का संस्कार है ! हम त आपसे भी ज्यादा जात पात करते ! "बिहारी" जो ठहरे !
गरीब लोग कहाँ जाएगा ? भावनात्मक बहाव मे लालू-नीतिश -पासवान को वोट तो दे दिया और आज ठाकरे बाप बेटा मजा चखा रहा है ! काहे नही नीतिश-लालू-पासवान को कहते हो की हर जिला मे १० थो फैक्ट्री खोल दे ! सच्चाई यह है की नीतिश ख़ुद विकास नही चाहते हैं !
आप बिहारी हैं त तनी आप अपना गाओं - मोहल्ला - परिवार मे नज़र डालिए - आपको बिहार का कोई ऐसा परिवार नही मिलेगा जिसका कोई न कोई सदस्य बिहार से बाहर कमाने नही गया हो ? इसके लिए कौन जिम्मेदार है ? बिहार का बंटवारा कौन करवाया ? क्या कसूर है हमारा ? अब त ख़ुद लालू का परिवार बिहार मे नही रहना चाहता है ! एक आम बिहारी भी बिहार नही जन चाहता है ! लालू राज मे सब से कम पलायन यादव लोग का था ठीक ऐसा ही नीतिश राज मे है - जब तक यह सब चलेगा - बिहार कैसे सुधरेगा ?
बिहार का जितना मीडिया वाला है - सब का सब एक नंबर का दलाल ! सब को पता है बिहार मे खुलेआम फेक एन्कोउतर हो रहा है - पैसा मे इतना दम है की सब चुप है !
सवाल बहुत है !
रंजन ऋतुराज सिंह , नॉएडा

6 comments:

vimal verma said...

बहुत सही लिखा है आपने,सबसे बड़े दुष्मन घर में ही है..आदमी इनपे भरोसा करे भी तो कैसे?ये सब समाज को दीमक की तरह खा रहे है और लोग हैं कि चुपचाप जुगाली कर रहे है..बहुत सटीक लिखा है आपने शुक्रिया।

cc said...

सच में गाली ठाकरे को नही लालू, पासवान , नीतीश जैसों को पड़नी चाहिए ....... नरक बना दिया बिहार को

quin said...

सच में गाली ठाकरे को नही लालू, पासवान , नीतीश जैसों को पड़नी चाहिए ....... नरक बना दिया बिहार को

ऋतेश पाठक said...

ठीक जगह पर मारे हैं भैया...
ऐसे भी नेता लोग तो वोट के खातिर बांटने के फिराक में रहते हैं, अब बोली कैसे फुराएगा....

MANISH RAJ said...

RITURAJ JI BILKUL SAHI FARMAYA HAI AAPNE. SABSE BADE DUSHMAN TO APNE GHAR ME HI HAIN.LEKIN PRATIRODH KI AAVAJ BULAND NAHI HO PATI HAI.

viky said...

Well said Ritu. Media is one of the biggest problem for Bihar. When something goes wrong they will be first to shout and scream but if some one is doing something good they will never praise that. This brings down the entire outlook of Bihar. People like Nitish do some good job and media never highlight that. This being a biggest problem for Bihar. Even Nitish wants to improve the situation but people of Bihar themselves don’t want them to happen. Let me ask each Bihari how many people can praise good job done by others. I guess none since we are so jealous of others. Nitish alone can not change Bihar, he needs our support. Not that I have any relationship with him but just like is work and big fan of him. I want to setup an IT industry in Bihar can I ?? I guess no way since I am scared and people around me don’t want that to happen.

I love BIHAR so much but my fate nothing can be done. I had been outside my home town Bihar for past 15 years and just waiting that when I can go back to BIHAR.

NO I know hindi magar heee in angreejoo nee meri hindi kee aisee kee tassi kaarwaa dee.